pravakta.com
"ये कैसे हुआ" - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
फ़ांका मस्ती ही हम गरीबों की विमल देखभाल करती है एक सर्कस लगा है भारत में जिसमें कुर्सी कमाल करती है "।उस्ताद शायर सुरेंद्र विमल ने जब ये पंक्तियां कहीं