pravakta.com
यम-यमी का वैदिक स्वरूप - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
शिवदेव आर्य प्रत्येक मनुष्य समाज को एक नई दिशा व दशा देने की पूर्णरूपेण योग्यता रखता है।अब दिशा व दशा कैसे हो, यह दिशा व दशा दिखाने वाले पर आश्रित