pravakta.com
जल सेवा : पानी ही अमृत है - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
-फ़िरदौस ख़ान भारत में हमेशा से ही सेवा की परंपरा रही है। जल सेवा भी इसी संस्कृति से प्रेरित है। उपनिषद में कहा गया है कि 'अमृत वै आप:' यानि पानी ही अमृत