pravakta.com
नेतृत्व की शुचिता पर ही जनतंत्र का निर्वाह निर्भर है - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
वर्तमान लोकतांत्रिक व्यवस्था के संदर्भ मंे अमेरिकन राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन को उद्घृत करते हुए कहा जाता है कि ‘ जनतंत्र जनता के लिए, जनता द्वारा, जनता का