pravakta.com
अदालत का फैसला और मेढकों की टर्र-टर्र - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
-आवेश तिवारी बारिश हुई और जैसी उम्मीद थी मेढक निकले और टर्र-टर्र करने लगे, अगर इन मेढकों कि मानें तो अदालती फैसला भी समय और परिस्थितियों को देखकर किया गया