pravakta.com
प्रौद्योगिकी सफल होने पर ओझल हो जाती है।
एक घिसीपिटी बात ही दुहराई जाएगी अगर हम कहें कि आज के काल-खण्ड की तस्वीर की रूपरेखा प्रौद्योगिकी के बगैर नहीं बनाई जा सकती। इस आलेख के