pravakta.com
सूखा राहत में स्वराज की मांग - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
सूखा राहतराज बनाम स्वराज यह बात कई बार दोहराई जा चुकी है कि बाढ़ और सुखाङ अब असामान्य नहीं, सामान्य क्रम है। बादल, कभी भी-कहीं भी बरसने से इंकार कर सकते