pravakta.com
आधुनिक विचारों में हमारे कुछ मौलिक विचार कहीं खो गए - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
डॉ नीलम महेंद्र नारी, स्त्री, महिला वनिता,चाहे जिस नाम से पुकारो नारी तो एक ही है। ईश्वर की वो रचना जिसे उसने सृजन की शक्ति दी है, ईश्वर की वो कल्पना