pravakta.com
शर्म उनको मगर नहीं आई? - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
-तनवीर जाफरी- ऋषियों-मुनियों, साधू-संतों, पीरों-फकीरों तथा अध्यात्मवादियों की धरती समझा जाने वाला हमारा भारतवर्ष अपनी इसी पहचान के चलते सहस्त्राब्दियों से