pravakta.com
मानवोन्नति की अनन्या साधिका वर्णव्यवस्था - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
-शिवदेव आर्य- वर्णाश्रम व्यवस्था वैदिक समाज को संगठित करने का अमूल्य रत्न है। प्राचीन काल में हमारे पूर्वजों ने समाज को सुसंगठित, सुव्यवस्थित बनाने