pravakta.com
साथी हाथ छुड़ाना रे। - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
अमित शर्मा (CA) हर कार्यालय की लय,वहाँ कार्य से फ़र्ज़ी एनकाउंटर करने वाले कर्मचारियों की कुशलता में लीन रहकर अंततोगत्वा अपने प्रारब्ध में ही विलीन हो जाती