pravakta.com
प्यार का ढाई आखर जो सनातन, अजर और अमर है - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
एम. अफसर खां सागर किसी के लिए जिन्दगी जीने का सलीका तो किसी के लिए जीने की खुबशूरत वजह है। किसी को इसमें रब दिखता है तो किसी के लिए कम्बख्त इश्क है ये।