pravakta.com
बच्चों को अपराध की ओर धकेलते विज्ञापनों पर मीडिया बेबस - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
लीना बैंकिंग तो झमेला है और बैंकिंग अब चुटकी में यार! दो शिशु, जो खुद बोल भी नहीं सकते, आपको भरोसा दिला रहे हैं! नीचे छोटे अक्षरों में लिखा है-