pravakta.com
‘संतान के लिए सुरक्षा-कवच है पिता’ - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
डॉ. कृष्णगोपाल मिश्र ‘पिता’ शब्द् संतान के लिए सुरक्षा-कवच है। पिता एक छत है, जिसके आश्रय में संतान विपत्ति के झंझावातों से स्वयं को सुरक्षित पाती है।