pravakta.com
परम्पराएँ प्रसारण की (3) पी सी चटर्जी - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
बी एन गोयल “चटर्जी साहब, देख भाल कर काम कीजिये ऐसा न हो नौकरी से हाथ धो बैठे” “प्रसाद साहब, अपनी चिंता करो - आप पुलिस वाले हैं. यहाँ के बाद आप को नौकरी की