pravakta.com
अन्यथा सारी प्रगति को भ्रष्टाचार खा जाएगा - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
ललित गर्ग देश में भ्रष्टाचार पर जब भी चर्चा होती है तो राजनीति को निशाना बनाया जाता है। आजादी के सत्तर साल बीत जाने के बाद भी हम यह तय नहीं कर पाये कि