pravakta.com
यदि आज प्रेमचंद होते तो यही कहते कि मैं हरीश बर्णवाल में उतर आया हूं – राम बहादुर राय - प्रवक्ता.कॉम | Pravakta
‘.यदि आज प्रेमचंद होते तो यही कहते कि मैं हरीश बर्णवाल में उतर आया हूं’ यह बात कोई और नहीं बल्कि इंदिरा गांधी कला केंद्र के अध्यक्ष तथा वरिष्ठ पत्रकार राम