pravakta.com
माँ - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
-कुलदीप प्रजापति- जब से जन्मा हूँ माँ मैं तेरे द्वार पर, सारी दुनिया की मुझको ख़ुशी मिल गई। जब से खेला हूँ माँ मैं तेरी गोद में, स्वर्ग भू से भी बढ़कर जमीं