pravakta.com
मिलना अपने श्याम से,ये सोच कर आये है - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
मिलना अपने श्याम से,ये सोच कर आये है दर्शन करने को हम सब लौट कर आये है छटा तुम्हारी सारे संसार में बिखरी है माया तुम्हारी सारी दुनिया में दिख रही है अनाथो