pravakta.com
कोपनहेगन सम्मेलन का अर्थ और उसके परिणाम - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
कभी महात्मा गाँधी ने कहा था- इंसान की जरुरतों को प्रकृति तो पूरा कर सकती है लेकिन इंसान के लालच को नहीं। आज इंसान का लालच सभी सीमाओं को लांघ चुका है। इस