pravakta.com
किकू शारदा ने अनजाने में उस दाढ़ी में हाथ दाल दिया ,जिसमें असंख्य साँप -बिच्छू पल रहे हैं। - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
गोस्वामी तुलसीदास जी कह गए हैं कि "प्रीत विरोध समान सन ,,,,,"अर्थात दोस्ती -दुश्मनी तो बराबरी वाले से ही ठीक है। ज्यादा ताकतवर से रार ठानना या असमान दर्जे