pravakta.com
गीता का कर्मयोग और आज का विश्व, भाग-85 - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
राकेश कुमार आर्य   गीता का सोलहवां अध्याय काम, क्रोध और लोभ इन तीनों को गीता नरक के द्वार रहती है। आज के संसार को गीता से यह शिक्षा लेनी चाहिए कि