pravakta.com
गीता का कर्मयोग और आज का विश्व, भाग-74 - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
राकेश कुमार आर्य    गीता का तेरहवां अध्याय और विश्व समाज संसार के जितने भर भी चमकते हुए पदार्थ हैं-उनमें वह परमपिता परमेश्वर ज्योति की ज्योति