pravakta.com
गीता का कर्मयोग और आज का विश्व, भाग-64 - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
राकेश कुमार आर्य गीता का ग्यारह अध्याय और विश्व समाज अर्जुन कह रहा है कि मैं जो कुछ देख रहा हूं उसकी शक्ति अनन्त है, भुजाएं अनन्त हैं, सूर्य चन्द्र उसके