pravakta.com
जीवन का दुःख और ध्यान का सुख - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
ललित गर्ग भौतिक चकाचैंध एवं आपाधापी के इस युग में मानसिक संतुलन हर व्यक्ति जरूरत है। मानसिक असंतुलन जीवन का सबसे बड़ा अभिशाप है। इससे व्यक्तिगत जीवन तो नरक