pravakta.com
सर्वधर्म-समभाव का भ्रम - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
मजहबों को धर्म मानने वाले भारत पर्याप्त में हैं। उनमें इतना साहस नहीं है कि वे मजहब को सम्प्रदाय मान सके। इसलिए (सर्वधर्म-समभाव) की एक बे सिर पैर की