pravakta.com
हिंदुस्तान में हिंदी का हाल व भविष्य - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
आर के रस्तोगी मेरे देश में मेरा ही बुरा हाल है विदेशी भाषा पर ठोकते ताल है मेरे देश में मेरा ही सम्मान नहीं फिर विदेशो में मेरा क्या होगा ? जब अपने ही