pravakta.com
वह कहानी लेखक बनना चाहता था. - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
देव को बचपन से हीं पुस्तकें पढने का बहुत शौक था.अब तो उसे यह भी याद नहीं है कि कौन कौन सी पुस्तकें पढी उसने उन दिनों.आज वह सोचता है कि न जाने कब और कैसे