pravakta.com
गीता का कर्मयोग और आज का विश्व, भाग-91 - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
राकेश कुमार आर्य   गीता का अठारहवां अध्याय योगीराज श्रीकृष्णजी अर्जुन को बताते हैं कि किसी भी देहधारी के लिए कर्मों का पूर्ण त्याग सम्भव नहीं है।