pravakta.com
गीत सुनाने निकली हूँ - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
भारत माँ की बेटी हूँ और गीत सुनाने निकली हूँ, वीरों की गाथा को जन जन तक पहुँचाने निकली हूँ, भारत माँ के शान के खातिर सरहद पर तुम ड़टे रहे, सर्दी गर्मी