pravakta.com
पापा की नसीहतों ने ज़िंदगी बदल दी - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
शम्‍स तमन्‍ना ----------------- पापा आज हमारे बीच नहीं हैं. लेकिन उनका स्नेह, उनकी मुस्कुराहट साया बनकर हमेशा मेरे साथ रहेगा। जानता था गंभीर स्थिति में