pravakta.com
बाप जी की दुकान - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
यों तो हर गांव और नगर में चौक होते हैं; पर लखनऊ के चौक की बात ही कुछ और है। यह केवल एक चौराहा नहीं, बल्कि 200 साल पुराना बाजार और घनी आबादी वाला क्षेत्र