pravakta.com
किसान बुद्ध का आह्नान! - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
चैतन्य प्रकाश विराट सूना आकाश क्रीड़ांगन बन गया है। काले मेघों की चपल किल्लोल जारी है। जलभरे बादलों से पटा आकाश मनुष्यता के सौभाग्य का समर्थ प्रतीक बना