pravakta.com
परिचर्चा : राष्ट्रमंडल खेल और सेक्स - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
यह पतन की पराकाष्ठा है। पश्चिमी सभ्यता भारतीय जीवन-मूल्यों को लीलने में जुटा हुआ है। भारतीय खान-पान, वेश-भूषा, भाषा, रहन-सहन, जीवन-दर्शन इन सब पर