pravakta.com
साम, दाम और दंड में फंसा लोकतंत्र - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
प्रभुनाथ शुक्ल कर्नाटक से निकला संदेश पूरी राजनीति को बदबूदार बना दिया है। राज्यपाल के विवेक का विवेक के विशेषाधिकार भी मजाक बन गया। सियासत और सत्ता के इस