pravakta.com
            कारवां गुजर गया - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
विजय कुमार छात्र जीवन से मेरी रुचि साहित्य में रही है। कविता मंचीय हो या पत्रिका में प्रकाशित, उनके प्रति विशेष आकर्षण था। इसी से कुछ तुकबंदी करने की भी