pravakta.com
क्या इस गलती को सुधारा नहीं जा सकता ?
राजीव गुप्ता आज़ाद भारत के गुलाम लोग है हम ! हमारे लिए क्या चुनाव ? हम तो राज्य विधान सभा , स्थानीय निकाय और पंचायत यहाँ तक कि सहकारी संस्थाओं में भी कोई