pravakta.com
पाप का बोझ - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
मुझे बालपन से ही अपना काम खुद करने की आदत रही है। इसका श्रेय मेरे पिताजी को है, जिन्होंने मुझे स्वावलम्बी बनने के लिए प्रेरित किया। वे कहते थे कि