pravakta.com
स्तनपान बनाम बोतलपान : एक नवजात शिशु की अभियक्ति - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
हे माँ ! मैं तो नन्हा सा मासूम हूँ . तेरा ही सलोना सा लाल हूँ. मेरी स्नेहिल अनुभूति को समझा है, तूने, आँचल को छुड़ाकर,बोतल दिया है,तूने. यह कैसा है न्याय