pravakta.com
पुस्‍तक समीक्षा/‘बुद्धिजीवियों’ की मुश्किल - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
पूरन चंद जोशी की नयी किताब ‘यादों से रची यात्रा’ किसी उपन्यास की तरह एक सांस में पढ़ गया। सभ्यता के भविष्य को लेकर गहरे सात्विक आवेग से भरी यह एक बेहद