pravakta.com
बीड़ी ही बना जीने का सहारा। - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
निकहत प्रवीन बड़ा बेटा उसके बगल में बैठा था और छोटे बेटे को गोद में लिए, सिर झुकाए वो लगातार बीड़ी बनाए जा रही थी। आप कब से इस काम को कर रही हैं? और कोई