pravakta.com
आंटी नहीं फांटी... - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
-क़ैस जौनपुरी- “चार समोसे पैक कर देना.” जी, और कुछ? और...ये क्या है? ये साबुदाना वड़ा है. ये भी चार दे देना. नाश्ते की दुकान पर खड़ा लड़का ग्राहक के कहे