pravakta.com
अन्धविश्वास निर्मूलन क़ानून का निर्माण ही इसका संवैधानिक समाधान है! - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
-डॉ. पुरुषोत्तम मीणा- घोर आश्चर्य और दुःख की बात है कि एक ओर तो पुरुष द्वारा दृष्टि डालना भी स्त्रियों को अपराध नजर आता है और दूसरी ओर 21वीं सदी में भी