pravakta.com
पुराने कानूनों से मुक्ति के साथ संशोधन भी जरूरी - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
पुराने कानूनों से मुक्ति के साथ संशोधन भी जरूरी प्रमोद भार्गव यह अच्छी बात है कि केंद्र सरकार कुछ उपनिवेशिक कानूनों को खत्म करने के बाद अवशेष रह गए