pravakta.com
आर्तनाद - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
पर्णकुटी के छिद्रों से पहली रश्मि रोशनी देखता हूँ गौशाला में कुम्हलाती बछियां रंभाती गवैं देखता हूँ नहीं पता किस धारा किस सेक्शन से बबाल मचा है मैं दिन की