pravakta.com
एक गजल रक्षाबंधन पर - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
रिश्ते है कई दुनिया में,बहन का रिश्ता खास है बाँधती है जो धागा बहन,वह धागा कोई खास है लगाये रखती है बहन टकटकी,रक्षाबंधन के पर्व पर आयेगा उसका भाई