pravakta.com
 मूर्ख परंपरा और समर्पित मूर्ख - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
मैं बचपन से मूर्ख रहा हूँ पर कभी इस पर गर्व नहीं किया, करता भी क्यों आखिर, गर्व मनुष्य द्वारा स्वअर्जित चीज़ों पर किया जाना चाहिए, प्रकृतिप्रदत्त वस्तुओ