pravakta.com
धार्मिक परिवेश का एक सच ऐसा भी - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
-गंगानंद झा- मैं समझता था कि मेरी चेतना में मुसलमानों की पहचान समझे जाने वाले प्रतीकों के विरुद्ध कोई पूर्वाग्रह नहीं था । पर सीवान ने मुझे बतलाया कि