pravakta.com
कुछ और उठो सत्यार्थी - Pravakta.Com | प्रवक्‍ता.कॉम
इंसान ज्वालामुखी बन चुके थे, पहले ही, इंसानो के बच्चे भी मासूमियत छोड़कर, ज्वालामुखी बनने लगे हैं, जो कभी भी फट कर सब कुछ जला सकते हैं। कोई चार साल की