iblogger.prachidigital.in
दास्ता-ए-नेगी - iBlogger
बदल जायेगा ये जमाना, राहे नेकी पर चलने से तेरे गलतफहमी है तेरी, खुद को समझ और बदल। गर है तू गरीब तो